आपातकाल : लोकतंत्र का एक शर्मनाक अध्याय

आज से 43 वर्ष पूर्व हमारे देश में कांग्रेस के द्वारा आपातकाल थोप दिया गया था जो आज भी केवल भारतीय ही नहीं वरन् भारत के प्रति नरम रुख रखने वाले विदेशियों के मन में भी एक के दुःस्वप्न की तरह दर्ज है। 25 जून 1975 की अर्धरात्रि में आपातकाल […]

Share this

Conversion & Infiltration in Bihar, धर्मांतरण और घुसपैठ से कराहता बिहार

Mithilesh Singh 2

Conversion & Infiltration in Bihar: महात्मा गांधी भोले-भाले भारतीयों को बहला फुसलाकर Conversion कराए जाने के सख्त खिलाफ थे। महात्मा गांधी का दर्शन इसकी कभी इजाजत नहीं देता था। उन्होने कहा था कि मैं विश्वास नहीं कर सकता कि एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति का धर्मांतरण करे। दूसरे के धर्मों को […]

Share this

14 August : Partition Day of India विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस

Mithilesh Singh

14 August : Partition Day of India विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस: भारत विभाजन भारतिय  इतिहास की एक भीषण  मानव त्रासदी के रूप में दर्ज है। माना जाता है कि इस  अव्यवहारिक विभाजन के फलस्वरुप इतिहास का सबसे बड़ा मानव विस्थापन हुआ । एक अनुमान के अनुसार विभाजन से लगभग 2 […]

Share this

Dr. Syama Prasad Mukherjee :एक अनथक योद्धा

Dr. Syama Prasad Mukherjee वैसे राजनीतिज्ञों की श्रेणी में आते हैं जिसने अपने अल्पजीवन काल में राजनीति पर अमिट छाप छोड़ी और जीवन पर्यंत देश और समाज के लिए संघर्षरत रहे। Dr. Syama Prasad Mukherjee का जन्म 6 जुलाई 1901 को हुआ था। उनके पिताजी पिता आशुतोष मुखर्जी न्यायाधीश एवं […]

Share this

आपातकाल (Emergency)का दंश

Mithilesh Singh

आपातकाल (Emergency) लगे हुए 47 वर्ष हो गए पर उसकी डरावनी यादें आज भी लोगों के जेहन में बनी हुई है। इलाहाबाद हाईकोर्ट में न्यायमूर्ति जगमोहन लाल सिन्हा ने 12 जून 1975 को एक फैसला सुनाते हुए इंदिरा गांधी के लोकसभा चुनाव को रद्द कर दिया। जहां इंदिरा गांधी को […]

Share this

Subscribe US Now