अफगानिस्तान में अत्याचार महिला ने बच्चे को कांटे के तार पर फेका

Ashish Singh 19
0 0
Read Time:8 Minute, 19 Second

तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्ज़ा तो कर लिया है। उसके बाद क्रूरता का एक चेहरा जो आज के ज़माने के युवा पीढ़ी देख रही है।अफगानिस्तान में महिला से अत्याचार करना अब आम बात है । लोगो को समझना चाहिए की सिर्फ पैसे कमा कर बड़ी बड़ी बिल्डिंग और महंगी कार से घूमना ही सब कुछ नहीं है। इस दुनिया में एक आतंक का चेहरा अलग अलग रूप में देखा है।इस बात पर भी चर्चा तेज़ है कि अफ़ग़ानिस्तान में अब महिलाओं और बच्चों का क्या होगा? देश की ताज़ा स्थिति का इन लोगों की ज़िंदगी पर होने वाले असर को लेकर भी चिंता जताई जा रही है.

अफगानिस्तान में हिंसा जारी है तो सरकार बनाने के लिए लिए तालिबान की तैयारी है. जलालाबाद से लेकर पंजशीर काबुल तक से फायरिंग की खबरे हैं. तालिबान के सामने अफगान सैनिकों ने तो घुटने टेक दिए लेकिन अफगानिस्तान में अभी भी ऐसे जांबाजों की कमी नहीं जिन्होंने तालिबान के आगे सरेंडर करने से इनकार कर दिया है. लेकिन अफसोस बस इतना है की इन जांबाजो में महिलाये आगे है। वही महिलाये जिसके साथ अफगानिओ ने सिर्फ अत्याचार किये है।
जलालाबाद में तालिबान के खिलाफ पहली बार आम जनता सड़कों पर उतरी. जलालाबाद की सड़कों पर बेखौफ लोगों को देखना तालिबानी दरिंदों को रास नहीं आया.बताया जाता है कि प्रदर्शन के दौरान जब कुछ लोगों ने अफगानिस्तान का झंडा फहराने की कोशिश की तो तालिबानी आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी. अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद कैमरे पर ‘समान अधिकारों’ की बात करने वाला तालिबान अब अपना असली चेहरा दिखाने लगा है। दुनिया भर के लोगो ने इसे देखा है और एक नए आतंक के क्रूर चेहरे को पहचाना है। काबुल एयरपोर्ट से लेकर जलालाबाद की सड़कों पर तालिबानियों का कहर देखा जा सकता है। इसके अलावा महिलाओं की आजादी को लेकर भी जो बातें तालिबान ऑन टीवी कर रहा है, जमीनी सच्चाई उसके उलट है।

अफगानी लोगो में खासकर महिलाएँ वहाँ मजबूर हैं. अफगानिस्तान में तालिबान अगर सबसे ज्यादा अत्याचार किसी के साथ कर रहा है तो वो महिलाये है। अपनी जिंदगी की भीख माँगने को। इसकी कुछ तस्वीरें काबुल एयरपोर्ट पर देखने को मिली, जहाँ महिलाएँ इतनी भयभीत थीं कि वो बदहवास हालात में विदेशी सैनिकों से अपील कर रही थीं कि उन्हें तालिबान से बचा लिया जाए। वह अपने बच्चे को काँटेदार तार के दूसरी ओर फेंक रही थीं, बिन ये सोचे कि इससे उन्हें चोट लग सकती है। ऐसी कई तस्वीरें वहा से सोशल मीडिया के माध्यम से आयी। घटना से जुड़ी वीडियोज भी सामने आई हैं। इनमें देख सकते हैं कि कैसे एक माँ अपना बच्चा तार के दूसरी ओर उछाल रही है, शायद उसे यकीन है दूसरी ओर खड़े विदेशी सैनिक उन्हें बचा लेंगे। मालूम हो कि इससे पहले तालिबानियों ने जलालाबाद में ओपन फायरिंग की थी, जिसमें कम से कम 3 लोगों के मरने और 6 के घायल होने की बात सामने आई थी। इस दौरान कई पत्रकारों से भी मारपीट की गई थी।

एयरपोर्ट पर तैनात एक अधिकारी कहते हैं, “सभी माँ(एँ) बहुत परेशान थीं, उन्हें तालिबान मार रहा था। वह चिल्ला रही थीं ‘मेरे बच्चे को बचाओ’ और इतना कहकर वह अपने बच्चे हमारे पास फेंक रहीं थीं। कुछ बच्चे कांटेदार तार पर गिर रहे थे। ये सब बहुत अजीब था। रात होते-होते स्थिति ऐसी हो गई कि शायद ही कोई एक आदमी हो जो उस समय रो न रहा हो।”

अफगानिस्तान में जुडी वारदाते से जुडी कई फोटो और वीडियो आपने भी देखि होगी जिसको देखा कर आप सोचते होंगे की इंसान ऐसा भला कैसे हो सकता है। लेकिन ये आज के ज़माने की हकीकत है की सब आँखो के सामने होते हुए भी आज के समाज का एक खास समुदाय इसे मानने को तैयार नहीं है। लोग ऐसे घटनाओ को देखने के बाद भी तालिबान का साथ दे रहे है। एक खास समुदाय के मजहब गुरु खुलकर कह रहे है की तालिबान जो कर रहा है वो सही कर रहा है। इससे ज्यादा गिरी बात और क्या हो सकती है।

महिलाओ को नौकरी से निकाला जा रहा है ?


तालिबान का आतंक सिर्फ सार्वजनिक स्थलों पर ही नहीं , बल्कि वहां के हर एक जगह पर देखने को मिल रहा है। चाहे आप बाजार की बात करे या फिर घर की। बिना हिजाब पहने महिलाये बाहर नहीं निकल पा रही। कार्यस्थलों से लेकर न्यूज चैनलों तक में हड़कंप मचा हुआ है।

हाल में तालिबान ने कहा था कि वो महिलाओं को समान अधिकार देने के पक्ष में हैं। हालाँकि, इस दावे की सच्चाई तब सामने आई जब सरकारी टीवी चैनल की एंकर खादिजा अमीन को उनके महिला होने के कारण बर्खास्त कर दिया गया और उनकी जगह पुरुष तालिबानी एंकर को बैठने को कहा गया। महिलाओ का हर उस जगह से बहिस्कार किया जा रहा है जहां वो नौकरी करती है। और उनके साथ बलात्कार और रेप जैसी घटनाये हो रही है

खादिजा अमीन कहती हैं कि तालिबान ने उन्‍हें और अन्‍य महिला कर्मचारियों को हमेशा के लिए नौकरी से निकाल दिया है। 28 साल की अमीन ने कहा, “मैं एक पत्रकार हूँ और मुझे काम करने की अनुमति नहीं दी जा रही है। अब मैं आगे क्‍या करूँगी। अगली पीढ़ी के लिए कुछ भी नहीं है। हमने पिछले 20 साल में जो कुछ भी हासिल किया है, वह सब खत्‍म हो गया। तालिबान तालिबान हैं, उनके अंदर कोई बदलाव नहीं आया है।”

अफगानिस्तान के इतिहास में महिलाओ के साथ अत्याचार ही है


अफगानिस्तान में महिलाओ के साथ हो रही घिनौनी वारदाते वहा इतिहास में कोई नई बात नहीं है। मुगलो के शासन में हिंदुस्तान से छोटी बच्चीओ और महिलाओ को उठाकर वहा लेजाकर दो दो दीनारों में बेचा दिया जाता था। इतिहास में तो वहां ऐसी महिलाओ के साथ अत्याचार खुलेआम बाजार लगा करते थे। लेकिन आज वही अफगानिस्तान खुद की सरजमीं पर खुद की महिलाओ की रक्षा करने की बजाए खुद ही वो उनके साथ अत्याचार कर रहा है। किसी ने ठीक ही कहा है की समय बदलता जरूर है। और आपके किये की सजा जरूर मिलती है।

About Post Author

Ashish Singh

Namastey, Myself Am Ashish Singh, Founder & CEO of TTHNews.Com & ARV Digital Creations. I am YouTuber, Blogger SEO expert & expert of SMM. I have 130K+ Subscribers on my News YouTube Plateform & 30k+ Subscribers on personal channel. Beside this i also have 35k+ following on my instagram account. I am working on social media since 2016. I have worked with some India's top writers like, Prof. Madhu Kishwar. I have completed my three years Diploma in Electronics Engineering from Government Polytechnic College, Shahjahanpur . i completed my BTech degress in Electronic And Communication Engineering from SCRIET, CCS University, Meerut. Since three years I started generating interest in video content on social media site YouTube to aware public on social affairs and current affairs, therefore I created my YouTube channel TTH News. After one year, in April 2020, I started a web portal named TTHNews.com. Which is now widely read by a large number of audiences.
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Author Profile

Ashish Singh
Ashish SinghFounder: TTHNews.Com
Namastey, Myself Am Ashish Singh, Founder & CEO of TTHNews.Com & ARV Digital Creations. I am YouTuber, Blogger SEO expert & expert of SMM. I have 130K+ Subscribers on my News YouTube Plateform & 30k+ Subscribers on personal channel. Beside this i also have 35k+ following on my instagram account. I am working on social media since 2016. I have worked with some India's top writers like, Prof. Madhu Kishwar.

I have completed my three years Diploma in Electronics Engineering from Government Polytechnic College, Shahjahanpur . i completed my BTech degress in Electronic And Communication Engineering from SCRIET, CCS University, Meerut. Since three years I started generating interest in video content on social media site YouTube to aware public on social affairs and current affairs, therefore I created my YouTube channel TTH News. After one year, in April 2020, I started a web portal named TTHNews.com. Which is now widely read by a large number of audiences.
Share this

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

19 thoughts on “अफगानिस्तान में अत्याचार महिला ने बच्चे को कांटे के तार पर फेका

  1. Greetings! This is my 1st comment here so I just wanted to give a quick shout out and tell you I
    truly enjoy reading through your posts. Can you suggest any other blogs/websites/forums that
    go over the same topics? Thanks!

  2. you are in point of fact a excellent webmaster. The web site loading speed is amazing.

    It sort of feels that you are doing any distinctive trick. Moreover, The contents are masterwork.
    you’ve performed a fantastic task in this matter!

  3. fantastic post, very informative. I wonder why the opposite specialists of this sector don’t realize this.
    You should continue your writing. I’m confident, you’ve a huge readers’ base already!

  4. I have to thank you for the efforts you’ve put in writing this site.
    I am hoping to view the same high-grade content from you later on as well.
    In fact, your creative writing abilities has motivated me to get my very own website now 😉

  5. My spouse and I absolutely love your blog and find the majority of your post’s to be exactly
    I’m looking for. can you offer guest writers to write content for you
    personally? I wouldn’t mind composing a post or
    elaborating on a number of the subjects you write
    in relation to here. Again, awesome web log!

  6. Fantastic goods from you, man. I’ve remember your stuff prior to and you are simply extremely wonderful.
    I really like what you’ve received here, really like what you are stating
    and the best way during which you say it. You’re making it
    entertaining and you still care for to stay it smart.
    I can not wait to learn much more from you. This is actually a terrific site.

  7. Its like you read my mind! You seem to know so much about this, like you
    wrote the book in it or something. I think that you can do with a few pics to
    drive the message home a little bit, but other than that, this is magnificent blog.
    A great read. I will certainly be back.

  8. Yesterday, while I was at work, my sister stole my iphone
    and tested to see if it can survive a twenty five foot drop, just so she can be a youtube sensation. My
    apple ipad is now broken and she has 83 views.
    I know this is completely off topic but I had to share it with someone!

  9. Hey there! I understand this is somewhat off-topic but I needed to ask.
    Does running a well-established blog like yours take a large amount of work?
    I am completely new to writing a blog but I do write in my diary everyday.

    I’d like to start a blog so I will be able to share my
    personal experience and views online. Please let me know if you have any recommendations or tips
    for new aspiring bloggers. Thankyou!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

Mopla vridoh हिन्दुओ के नरसंहार को पड़ा दिया कृषि व्रिदोह

Mopla vridoh हिन्दुओ के नर संहार को जब इतिहास में कृषि विद्रोह पढ़ाया गया। उस वक्त बापों के सामने धर्म बदल कर उनकी बेटियों का उन्ही के सामने निकाह करा दिया गया था। जबरन करा दिया गया था। जबरन धर्मांतरण यहाँ कराये गए , मंदिरों को ध्वस्त किया गया , […]
Mopla Kand TTH News

Subscribe US Now